हींग की खेती कैसे करें – घर में केसे उगायें हिंग का पोधा | HING KI KHETI KAISE KARE | Asafetida Plant

हींग की खेती कैसे करें – घर में केसे उगायें हिंग का पोधा | HING KI KHETI KAISE KARE | Asafetida Plant

आप खाने के शोकिन हे तो आप हींग के बारे में जरुर जानते होंगे और आप ने खाने में कभी-ना-कभी हींग का उपयोग जरुर किया होगा, हिंग की खेती भी भारत में बहुत ही कम मात्रा में होती हे और आप अब आप सोच रहें होंगे की हींग की खेती केसे होती हे हिंग के पोधे को केसे उगाया जाता हे

हींग एक बहुत ही खुशबू-दार और मुख्य मसाला हे जिसे पूरी दुनिया में पसंद किया जाता हे हींग की खेती भी पूरी दुनिया में कुछ देशों में मुख्य रूप से की जाती हे जहा का तापमान हींग की खेती के अनुकूल होता हे

हींग की खेती कैसे करें - घर में केसे उगायें हिंग का पोधा | HING KI KHETI KAISE KARE | Asafetida Plant
HING KI KHETI KAISE KARE

आप के सभी सवालों के जवाब हम आपको यहाँ पर देने वाले हे जिसमे आपको हिंग के पोधे लगाने की, पोधे के लिये आवश्यक जलवायु , पोधे की देखभाल केसे करेंगे , पोधे को केसे तेयार करेंगे , पोधे कहा से ख़रीदे , यह सभी जानकारी आपको हम यहाँ पर देने वाले हे

हींग की खेती कैसे करें-सभी जानकारी | HING KI KHETI KAISE KARE

हिंग का उपयोग हमारे देश में सभी रसोइयों में किया जाता हें इसका उपयोग रसोई में सब्जियों में तड़का लगाने में और भोजन की खुशबू-व-स्वाद को बढाने में किया जाता हें आपको हिंग की खेती से सम्बंधित सभी जानकारी यहा पे मिलने वाली हें इसे पढ़कर के आप हिंग की खेती से जुडी सभी जानकारी बड़ा सकते हें , HING KI KHETI KAISE KARE

  • हिंग का पोधा घर में केसे लगाये
  • हिंग की खेती केसे करे
  • हिंग की खेती कब करे
  • हिंग पोधे में किस भाग से मिलता हें
  • हिंग का पोधा केसे उगाये
  • हिंग का पोधा लगाने की विधि
  • हिंग की उन्नत -प्रसिद्ध किस्मे
  • हिंग खेती की जलवायु
  • हिंग की खेती में सिचाई
  • खेत की तेयारी केसे करे
  • हिंग की खेती में किट और रोग का नियंत्रण
  • हींग की खेती से कमाई की जानकारी
  • हिंग को कहा पर बेचे
  • भारत में हिंग की खेती कहा होती हें
  • हिंग का पोधा लगाते समय धयान रखे यह मुख्य बाते
  • हिंग की खेती में आपके – सवाल और जवाब

इन सभी बिंदुओ की जानकारी आपको हम आगे इस पोस्ट में बिंदुवार देगे जिससे आप आसानी से समझ सकते हें और हिंग की खेती भी आप अपने लिये कर सकते हें

हिंग का पोधा घर में केसे लगाये

हिंग का पोधा भारत में आसानी से नहीं उगा सकते हें हिंग के पोधे को उगने के लिये 20 से 30 डिग्री तक तक का तापमान best होता हें इसके पोधे को आप आसानी से घर पर बिज से तेयार नहीं कर सकते हें

हिंग के पोधे को आप आसानी से Online खरीदकर उगा सकते हें इसके लिये आप सर्दियों के मोसम का उपयोग कर सकते हें हिंग का पोधा 30 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को ही सहन कर सकता हें 30 डिग्री से अधिक के तापमान में हिंग का पोधा जलने और सूखने लगता हें

घर में कभी भी आप पोधे को तेज धुप में न रखे , अधिक धुप में हिंग के पोधे को आप जयादा समय तक जीवित नहीं रख सकते हें इसके पोधे को आप साधारण खाद न दे जिससे पोधे को नुकसान हो सके

हिंग की खेती केसे करे

हिंग की खेती हमारे भारत-देश में सभी जगह पर नहीं की जा सकती हें हिमाचल जेसे राज्यों में जहा पर सर्दी अधिक होती हें और तापमान बहुत कम होता हें हिंग की खेती के लिये 20 से 30 डिग्री सेल्सियस से निचे का तापमान अच्छा रहता हें जो हिमाचल जेसे राज्यों में आसानी से मिल जाता हें हिंग की खेती के बारे सम्पूर्ण जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल जायेगी

हिंग की खेती कब करे

हिंग के बिज को आप सरकार के सहायता से खरीदेंगे और उगायेंगे तो आपको समय-समय पर सरकार की सहायता भी मिलती हें और सलाह भी मिलती रहेगी, हिंग का बिज भी आपको आसानी से नहीं मिलेगा इसके लिये भी आपको मेहनत करने की आवश्यकता होगी , हींग के बिज की और खेती की जानकारी आप नेशनल ब्यूरो ऑफ प्लांट एंड जेनेटिक विभाग से सम्पर्क करके कर सकते हें यहा से आपको अच्छी और उप्रुक्त जानकारी हिंग की खेती की मिलने वाली हें

हिंग पोधे में किस भाग से मिलता हें

हिंग के पोधे से हिंग की प्राप्ति जड़ -और-प्रकंदो से होती हें कुछ लोगो के मन में यह सवाल रहता हें की हिंग की प्राप्ति फूलों से या हिंग के फल आते होंगे लेकिन यह बिलकुल गलत जानकरी हें हिंग की प्राप्ति पोधे की जड़ो में चीरा लगाकर के दूध या रस के रूप में प्राप्त होती हें , HING KI KHETI KAISE KARE

यह भी पढ़े – kaju ki kheti | काजू की खेती कैसे करे , देखभाल और लाभ की जानकारी | Cashew Farming

बिज को लगाने की विधि

हींग की खेती के लिये आप ग्रीन-हाउस या पोली-हाउस में बीजों का अंकुरण करके अंकुरण की अवस्था में ही आप खेत में इनकी रुपाई कर सकते हे हिंग का बिज आप आसानी से नहीं उगा सकते हें न ही इसका बिज आपको आसानी से मार्केट में मिल सकता हें इसके बिज और पोधे को आप Online खरीद सकते हें ऑनलाइन हिंग के बिज और पोधे आसानी से खरीद सकते हें

हिंग का पोधा लगाने की विधि

हिंग की खेती आप ऐसे स्थान पर करे जहा पर सूर्य का प्रकाश सीधा पोधे पर होता हें हिंग के बिज को आप हमेशा 2 फिट के अंतर पर ही लगाये, हिंग के पोधे के अच्छे विकाश के लिये पोधे से पोधे के बिच में 2 फिट का अंतर अवश्य रखे , हिंग के बिज को आप सीधे खेत में लगाने के अलावा इसके बिज का अंकुरण ग्रीन-हाउस में तेयार करके खेत में बिज की अंकुरण की अवस्था में लगा सकते हें हिंग के पोधे को आप छायादार स्थान पर नहीं उगाये यह सीधी धुप में अच्छा विकाश करता हें

हिंग की उन्नत -प्रसिद्ध किस्मे

पूरी दुनिया में 100 से अधिक किस्मे हींग की उगाई जाती हें अलग-अलग हींग की किस्मों को दुनिया के अलग अलग कोनो में लगाया जाता हें भारत में हिंग की कुछ 2 से 3 प्रजातीय हीलगाई जाती हें

हिंग की मुख्य 2 किस्मे ही भारत में उगाई जाती हें दूधिया सफ़ेद हिंग – लाल हिंग, इसमें से भी लाल हिंग में गंध बहुत ही तेज होती हें , HING KI KHETI KAISE KARE

हिंग खेती की जलवायु

भारत में हिंग की खेती अभी पहाड़ी और ठन्डे इलाको में ही की जाती हें शुष्क और ठन्डे इलाको में ही इसका उत्पादन और खेती उत्तम मानी जाती हें हिंग की खेती आप 20 डिग्री से 30 डिग्री सेल्सियस के निचे में ही अच्छी तरह कर सकते हें हिंग का पोधा सर्दियों में 5 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में भी अच्छी तरह विकाश कर सकता हें हिंग के पोधे रेगिस्तानी जमीन में अच्छा विकाश कर लेते हें रेगिस्तानी जलवायु हिंग की खेती के लिये उपयूक्त होती हें

हिंग की खेती में सिचाई

हिंग की खेती में अंकुरण के समय से ही सिचाई करना आवश्यक होता हें हिंग की खेती में आवश्यक नमी पोधे के अच्छे विकाश के लिये अच्छी रहती हें अधिक पानी (जलभराव) और अधिक नमी हिंग के पोधे के लिये नुकशान देय होति हे आप ऊँगली की सहायता से मिट्टी में खुदाई करके पता लगा सकते हें की मिटटी में कितनी नमी हें और सिचाई की आवश्यकता हें की नहीं हें

यह भी पढ़े – Climbing Rose | रंग-बिरंगे गुलाब का बैल नुमा पौधा बनायेगा आप के घर और गार्डेन को खूबसूरत | घर में लगाये आसानी से

खेत की तेयारी केसे करे

हिंग की खेती आप दोमट-रेतीली – चिकनी मिट्टी के मिश्रण में आसानी से कर सकते हें हिंग के पोधे का विकाश रेगिस्तानी भूमि में भी अच्छा होता हें हिंग के पोधे के अच्छे विकाश के लिये जेविक खाद का उपयोग करना अच्छा रहता हें हिंग की खेती आप अम्लीय-अधिक PH वाली जमीन में भी आसानी से कर सकते हें

हिंग की खेती में किट और रोग का नियंत्रण

हिंग की खेती के लिये उचित तापमान रहना चाहिये, 30 से 35 डिग्री तक का तापमान हिंग की खेती के लिये सबसे अच्छा रहता हें अधिक तापमान होने पर हींग की खेती रोग-लगने की सम्भावना रहती हें सामान्य तोर पर हिंग की खेती में रोग लगने की सम्भावना बहुत ही कम रहती हें उचित तापमान में और अनुकूलतम मिटटी में आप हींग की खेती करके अच्छा लाभ ले सकते हें

हिंग की फसल की कटाई

हिंग के पोधे से हिंग की प्राप्ति 5 साल के पोधे से मिलता हें हिंग की प्राप्ति हिंग के पोधे के जड़ो-प्रकंदो से होती हें हिंग पोधे की जड़ो-प्रकंदो पर चीरा लगा कर के प्राप्त किया जाता हें यह हवा के सम्पर्क मेंआने पर कठोर हो जाता हें कुछ-कुछ समय में इसे इकट्टा किया जाता हें

हींग की खेती से कमाई की जानकारी

अगर आप हींग की खेती करते हें तो आपको भी जानकारी होगी की आप हिंग की खेती करके कितना अधिक लाभ कमा सकते हें

हिंग का बाजार भाव 30,000 से शुरु होकर के अपनी कवालीटी ( गुणवत्ता ) के आधार पर 50,000 तक का होता हें हमारे भारत देश में हिंग की बहुत अधिक मांग हें और बहुत बड़ा बाजार हमरे देश में हिंग का हें हिंग की सबसे जयादा पूर्ति विदेशो से खरीद कर के की जाती हें जिसके कारण यह हें की हमारे देश में हिंग की खेती कम मात्रा में की जाती हें

खेती के लिहाज से बात की जाये तो आप हींग की खेती में बहुत ही अधिक लाभ आप कमा सकते हें इसका प्रति किलों का भाव भी बहुत ही अधिक होता हें प्रति-वर्ष करोडो का व्यापार हमारे देश में किया जाता हें जिसे विदेशो से खरीद कर किया जाता हें

हिंग को कहा पर बेचे

अगर आप भी हींग की खेती करते हें या हिंग की खेती करना चाहते हें तो आपके मन में भी यह सवाल आता होगा की हम हिंग को कहा पर बेचेंगे , और कहा पर भारत में इसका बाजार हें

तो आप निश्चित रहे की भारत में आप हिंग की खेती करने के बाद में कहा पर बेचेंगे , भारत हींग का बहुत बड़ा आयातक और उपभोक्ता देश हें भारत में बहुत अधिक मात्रा में हिंग दुसरे देशो से ख़रीदा जाता हें

आप बहुत ही अच्छी कीमत में हिंग की बिक्री थोक में और रिटेलर में भारत के किसी भी राज्य के अंदर बेच सकते हें इसे आप सीधे उपभोक्ताओ को भी बेच सकते हें जो भी इनका उपयोग करते हें , हिंग का उपयोग सभी रसोइयों में किया जाता हें भारत में आप हींग की खेती कितनी भी अधिक मात्रा में करे आपको इसको बेचने में कोई भी परेशानी नहीं आने वाली हें

यह भी पढ़े – गमले के लिए मिट्टी कैसे तैयार करें | Magic potting soil | यहाँ से खरीदिये सस्ता-अच्छा

आप इसे थोक में भी बेचेंगे तो बहुत सारे व्यापारी आप का मॉल खेत से ही खरीदने के लिये तेयार रहेंगे , बहुत से व्यापारी आपको मॉल खरीदने के लिये अडवांस में भी पैसे देने के लिये मिल जायेंगे

हिंग के पोधे खरीदिये – Online घर बेटे

आप अपने घर में हिंग के पोधे उगाने के लिए यहाँ से खरीद सकते हे यहाँ पर दिये गये सभी पोधे अच्छी रैंकिंग के साथ में Online खरीद सकते हे आप लिंक पर click करके पोधे के बारे में और अधिक जानकारी ले सकते हे

भारत में हिंग की खेती कहा होती हें

भारत में हिंग की खेती मुख्य तोर पर जम्मू-कश्मीर में , पंजाब में , उतराखंड में , हिमाचल में और भी कुछ मात्रा में अन्य ठन्डे प्रदेशो में भी हिंग की खेती की जाती हें ,बहुत से बागबानी के शोकिन लोग अपने घर के गार्डन में भी हिंग के पोधे उगाते हें

भारत में सबसे अधिक खेती हिंग की हिमाचल प्रदेश में की जाती हें , HING KI KHETI KAISE KARE

हींग कैसे बनती है

हिंग की प्राप्ति हिंग के पोधे की जड से प्राप्त रस से होती हें जब जड़ो से रस निकल लिया जाता हें तब हिंग बनने की प्रकिर्या होती हें इसको खाने लायक बनाने के के लिये इसमें खाने वाला गोंद आदि मिलाकर के प्रोसेसिंग करके उत्तम हिंग तेयार की जाती हें

हिंग की 2 वेरायटी मुख्य रूप से होती हें सफ़ेद हिंग , लाल हिंग , हिंग की प्राप्ति हिंग के पोधे से या फुल से नहीं होती हें हिंग की प्राप्ति मुख्य रूप से जड़ से प्राप्त रस से होती हें हिंग के पोधे को गाजर कुल का पोधा माना जाता हें

हिंग का पोधा लगाते समय धयान रखे यह मुख्य बाते

हिंग की खेती में आपके – सवाल और जवाब

1 – हिंग की खेती भारत में कहा – कहा होती हें

हिंग की खेती मुख्य तोर पर भारत में जम्मू-कश्मीर में , पंजाब में , उतराखंड में , हिमाचल में और भी कुछ मात्रा में अन्य ठन्डे प्रदेशो में भी हिंग की खेती की जाती हें ,बहुत से बागबानी के शोकिन लोग अपने घर के गार्डन में भी हिंग के पोधे लगाते हें

2 – पोधे के किस भाग से हिंग की प्राप्ति होती हें

हींग की प्राप्ति फूलों से और फलो से नहीं होती हे हींग की प्राप्ति जड़ो से प्राप्त होने वाले रस से मिलता हे जिसे थोडा-थोडा प्राप्त किया जाता हे और इसे प्रोसेसिंग के दवारा खाने के लिये तेयार किया जाता हे

3 – हिंग की कीमत क्या होती हें

हिंग की कीमत बाजार में 30,000 से ही शुरु हो जाती हें इसकी अलग – अलग क्वालिटी के आधार पर भाव 30,000 से लेकर के 50,000 तक बाजार में हें यह सोपं की कुल का पोधा होता हें

4 – हिंग के अन्य नाम क्या-क्या हें

हिंग को भारत के सभी राज्यों में भाषा के आधार पर अलग-अलग नाम से जाना और पुकारा जाता हें हिंदी में हम इसे हिंग के नाम से जानते हें उर्दू में -हिंग , संस्कृत में – हिंगू , मलयालम में – कायम , मराठी में भी – हिंग , कश्मीरी में -यांग , कनड में – हिन्गेर, इंग्लिश में – Asafoetida के नाम से पुकारा जाता हें

5 – हिंग किस चीज़ से बनता हें

हिंग के पोधे से, फूलों से, हिंग की प्राप्ति नहीं होती हें हिंग के पोधे की जड़ो से , प्रकंदो से निकले हुए रस से / वानस्पतिक दूध से ही हिंग की प्राप्ति होती हें

6 – हिंग की पहचान क्या होती हें

हिंग की पहचान उसके रंग से उसकी खुशबु से भी आसानी से की जा सकती हें आप आसानी से हिंग की कुछ मात्रा को लेना हें और गर्म की के अंदर डालना हें जिससे हिंग का दाने फूलने लगते हें और इनका रंग भी लाल होने लगता हें , HING KI KHETI KAISE KARE

NOTE –

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हें तो आप कमेंट्स करके हमें उत्साहित करे और अच्छी अच्छी जानकारी देने के लिये ,अगर आपके कुछ और सवाल – जवाब हें या आपको हमारे दवारा दी गई जानकारी में कुछ गलत जानकारी हें तो आपअपने कमेंट्स हमें जानकारी जरुर दे जिससे हम अपनी जानकारीमें सुधार कर सकते हें

हिंग की खेती केसे करे- घर में केसे उगायें हिंग का पोधा | HING KI KHETI KAISE KARE

Leave a Comment