marua ke fayde Benefits in hindi | मरुआ का पौधा के फायदे,चमत्तकारी और आयुर्वेदिक गुण

marua ke fayde Benefits in hindi | मरुआ का पौधा के फायदे,चमत्तकारी और आयुर्वेदिक गुण

मरुआ का पौधा सम्पूर्ण भारत में सभी जगह आसानी से उगाया जा सकता है इसका पौधा तुलसी के जैसा ही होता है इसका पौधा अत्यंत ही सुगन्धित होता हे इसके फूल सफ़ेद और बैंगनी कलर का होता है marua ke fayde जो तुलसी के पौधे के सम्मान ही होता हे

बारीश के मौसम और सर्दी के मौसम में मच्छर और कीड़े मकोड़ों का प्रभाव बहुत ही बढ़ जाता हे जिसके कारण लोग बीमारियों का शिकार होने लगते हे जब मरुआ का पौधा आप घर के अंदर लगाते हे तब घर के अंदर मच्छर और कीड़े का प्रभाव कम होने लगता हे

marua
marua ke fayde Benefits in hindi

मरुआ का पौधा सभी तरह के बागो में नर्सरियों में आसानी से उगाया जाता हे मरुआ को फूलो के लिए , अच्छी खुशबू के लिए , वातावरण को अच्छा बनाने के लिए और बहुत से ओषधिय और आयुर्वेदिक गुणो के कारण भी मरुआ के पौधे को घरो , मंदिर और बागो में लगाया जाता हे

Marua ke fayde Benefits in hindi | मरवा के पौधे के फायदे और औषधीय लाभ

marua ke fayde – यह पौधा सभी जगह नर्सरी में और आयुर्वेदिक पौधे की नर्सरी में आसानी से मिल जाता हे मरुआ के पौधे का मूल स्थान यूरोप , अफ्रीका हे यह अमेरिका में भी उगाया जाता हे

  • यह भारत में  भी बहुत प्रसिद्ध हे भारत में भी सभी जगह उगाया जाता हे
  • मरुआ एक लेमिएसी [ lamiaceae ]कुल का पौधा हे
  • वानस्पतिक नाम – ऑरिगेनम मेरोजाना हे

आप यह भी पढ़े – top 10 medicinal plants in india जो हमारे घर में होने जरुरी है

मरुआ का अन्य भाषाओ में नाम

  • संस्कृत में – मरू , मरुबक , मरुत , शीतलक
  • हिंदी – मरुआ
  • पंजाबी – मरुआ
  • उत्तराखंड – वन-तुलसी
  • तमिल – मारु
  • बंगाली – मुर्रू
  • मराठी – मुरवा
  • मलयालम – मरुवामु
  • तेलगु – मरुवमु
  • अंग्रेजी में-मरजोरम ( marjoram )
  • फारसी में – मरजन
  • अरबी में – मरदाकुश

आप यह भी पढ़े – किसान कर्ज माफी ! कया कर्ज माफ़ी समाधान है या समस्या ! योजना की कमिया और समस्याये

Marwa Plant Benefits – मरुआ का आयुर्वेदिक गुण और प्रभाव

मरुआ के पौधे का घरेलु दवाओं में आसानी से जड़ , पत्तो ,फूलो , फलो ,जड़ का चूर्ण ,टहनियों , पत्तियों , पौधे का चूर्ण का उपयोग घेरलू दवाओं में किया जाता हे

मरुआ के पौधे का उपयोग रोग में – गठिया रोग में , मासिक धर्म , पैट दर्द में , सरदर्द में दस्त में , पेचिस में , चोट-मोच में , दर्द में , कब्ज में , सूजन में ,घर में कीड़े मकोड़े और मछर में मरुआ के पौधे का उपयोग , जोड़ो के दर्द में घेरलू और ओषधिय चिकित्सा में प्रयोग किया जाता हे

marwa plant benefits

घर में कीड़े मकोड़े और मछर में मरुआ के पौधे का उपयोग

बारिश के मौसम में बहुत से कीड़े मकोड़े और मछर की संख्या बहुत जयादा हो जाती हे बारिश के मौसम में घर में एक मरुआ का पौधा लगाने से घर में कीड़े मकोड़े – मछर का प्रभाव कम हो जाता हे और घर में सोंधी महक फैलाता रहेगा

मरुआ के पौधे को घर के बिच या गमले में लगा कर घर के किसी भी कोने में रख सकते हे इसकी साइज भी तुलसी के जितनी ही होती हे जिस घर में मरुआ का पौधा होता हे वहा डेंगू और मलेरिया का खतरा बहुत कम होता हे और वातावरण शुद्ध होता हे

सूजन में मरुआ के उपयोग                                                                                                 

मरुआ के पौधे की पत्तियों और टहनियों को पानी उबाल कर सूजन वाली जगह बफारा देने से और गर्म पानी से मालिस करने से भी शरीर में सूजन कम होगा और सूजन के दर्द में भी फायदा होता हे

यह भी पढ़े – मरुआ के पौधे के आयुर्वेदिक गुण के लिए [ benefit of marua ]

पेचिस में मरुआ के फायदे और उपयोग                                                                                   

मरुआ के पौधे की पत्तियों को मलकर पेट पर मालिस करने के बाद हलकी सिकाई करने से तीव्र पेचिस में भी फायदा होता हे

दर्द में मरुआ के उपयोग                                                                                                   

मरुआ के पौधे की पत्तियों और टहनियों को पानी उबाल कर सूजन की जगह गर्म पानी से मालिस करने से दर्द में भी फायदा होता हे

खुनी दस्त में मरुआ के फायदे और उपयोग विधि                                                                       

मरुआ के पौधे की पत्तियों का काढ़ा बना कर सुबह-शाम-दोपहर रोजाना पिलाने से खुनी दस्त में भी फायदा होता हे

सिर दर्द में मरुआ के फायदे और उपयोग विधि                                                                           

मरुआ की ताजा पत्तियों का शीत निर्यास बनाकर सेवन करने से सिर दर्द में बहुत ही फायदा होगा

TB [ टी.बी ] रोग में मरुआ के फायदे                                                                                   

टी.बी रोग में मरुआ की ताजा जड़ का 5 ग्राम रस को सुबह – शाम सेवन करने से रोग में बहुत ही जल्दी फायदा होगा

आप यह भी पढ़े – पालक की खेती की पूरी जानकारी [kab kha kese ] / किसान ऐसे करे लाखो की कमाई

पेट दर्द में मरुआ की पत्तियों का फायदा                                                                                   

पेट दर्द में मरुआ की पत्तियों और बीजो का चूर्ण बना कर 5 ग्राम चूर्ण को गर्म पानी के साथ मिला कर सुबह – शाम उपयोग करने से पेट दर्द में फायदा होता हे

मासिक धर्म में मरुआ का फायदा

मासिक धर्म में मरुआ का 20 ग्राम का फाट बना कर नियमित रूप से सेवन करने से रज विकारो में फायदा होता हे

चोट- मोच में मरुआ के फायदे

मरुआ के तेल की मालिस सुबह -शाम चोट वाली जगह पर लगाने से चोट – मोच में आश्चर्य जनक फायदा होगा

कब्ज में मरुआ के फायदे                                                                                                   

कब्ज में मरुआ का 20 ग्राम के लगभग का फाट बना कर पीने से कब्ज में जबरदस्त फायदा होगा

गठिया रोग में मरुआ के फायदे

गठिया के रोगी को मरुआ के पंचांग [ पत्ती , टहनिया , फूल , जड़ ,बीज ] का काढ़ा 20-30 मिली के लगभग बनाकर रोगी को दिन में 2 से 3 बार पिलाने से गठिया के रोग में फायदा होता

MARWA KI CHATNI KE FAYDE

मरुआ की चटनी बहुत ही आसानी से आप बना सकते हे इसके लिए आप को इन चीजों की आवश्यकता होगी

  • एक कप मरुआ की पत्तिया
  • एक निम्बू
  • एक नमक की चमच
  • 1 से 2 हरी मिर्च

इन सभी की मात्रा आप अपनी आवश्यकता के अनुसार बड़ा सकते हे

चटनी बनाने की विधि

  • सभी पत्तियों और निम्बू , मिर्च को सबसे पहले धो ले
  • अब आप इन सभी सामान को मिक्सी में दाल दे
  • इसमें आप 1 कप पानी मिला सकते हे
  • अब आप इनको मिक्सी में अच्छी तरह पीस ले
  • अब पूरी तरह चटनी तैयार हे
  • आप चटनी को पत्थर पर भी पीस सकते हे

मरुआ के पौधे और बीज यहां से खरीदिये

बीज

पौधे

आप यह भी पढ़े – आंवले की खेती, ज्यादा पैदावार और लाभ के लिये कया करे पूरी जानकारी

मरुआ के अधिक सेवन के नुकसान

मरुआ के अधिक सेवन से दस्त लगने की परेशानी हो सकती हे मरुआ का सेवन सावधानी से करे

मरुआ का पौधा घर में रहता हे तो घर में सांप कीड़े – मकोड़े मछर नहीं आते हे जिससे घर का वातावरण सुगन्धित रहता हे और घर महकता रहता हे मरुआ के पौधे के चमत्तकारी और आयुर्वेदिक गुण बहुत से हे

आप को हमारी पोस्ट ( marua ke fayde Benefits in hindi  )अच्छी लगी हे तो आप हमारी पोस्ट को शेयर जरुर करे और आप कुछ सुझाव भी दे सकते हे और आप अपनी कहानी को हमसे साँझा भी कर सकते हे

Leave a Comment